वाहनों पर रिफ्लेक्टर नहीं लगाया तो होगा जुर्माना

Vehicles will be fined if they do not impose reflectors
Spread the love

बीकानेर/चूरू। हाईवे पर रात्रि के समय तेज रफ्तार से दौड़ते वाहनों को लेकर होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए परिवहन विभाग की ओर से एक सख्त कदम उठाया गया है। जिसको लेकर वाहनों में अब रेड एंड व्हाइट रिफ्लेक्टर टेप का सहारा लिया जाएगा। वाहनों पर आगे-पीछे सफेद व लाल रंग की रेट्रो रिफ्लेक्टर पट्टियां लगाई जाएंगी। ऐसे में रोड़ पर फर्राटे से दौड़ते वाहनो का दूर से ही आभास हो जाएगा। चकाचौंध रोशनी के बीच अक्सर सामने चल रहा वाहन नजर नहीं आता है और कई बार दुर्घटना हो जाती है। ऐसे में परिवहन विभाग ने इन हादसों को रोकने के लिए कदम उठाया। गाडिय़ों में रेट्रो रिफ्लेक्टर लगने से हादसों में कमी आएगी। विभाग ने विशेष मापदंड वाली पट्टी लगाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके लिए रिफ्लेक्टर बनाने वाली तीन कम्पनियों को अधिकृत किया गया। पट्टी लगाने के बाद इसका बिल अटैच करने पर ही वाहन की फिटनेस हो सकेगी। वाहन मालिकों को अब वाहन का फिटनेस प्रमाण पत्र लेने से पहले वाहन पर रेट्रो रिफलेक्टर पट्टी लगवानी होगी। पट्टी लगाने वाली एजेन्सी से अधिकृत कम्पनी के तीन प्रमाण पत्र जारी होंगे। इसमें वाहन के नम्बर आदि की जानकारी अंकित होगी। उसकी एक कॉपी सम्बन्धित एजेन्सी, दूसरी वाहन मालिक व तीसरी परिवहन कार्यालय में जमा होगी। इसके बाद ही परिवहन विभाग में वाहन का फिटनेस हो पाएगा।
निर्धारित किए पट्टी लगाने के मापदंड
परिवाहन विभाग की ओर से रिफ्लेक्टर लगाने के मापदंड तय किए गए। इसके तहत परिवहन वाहनों पर आगे की ओर से सफेद व पीछे की ओर लाल रंग की पट्टी लगानी अनिवार्य होगा। पट्टी की साइज वाहन की क्षमता व साइज के अनुसार लगाई जाएगी। 3.5 टन से अधिक व 7.5 टन से कम भार वाहनों पर न्यनूतम 20 मिलीमीटर चौड़ाई की पट्टी लगेगी, वहीं 7.5 टन से अधिक भार वाहन पर 50 मिलीमीटर चौड़ाई की पट्टी लगेगी। वाहन के पीछे आउट लाइन पट्टी चिपकाई जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By alertbharat
Load More In बीकानेर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *