कोरोना के बढ़ते मामलों को देख पंजाबी महासभा ने लिया यह निर्णय…

Spread the love
बीकानेर। बीकानेर पंजाबी महासभा के अध्यक्ष नरेश चुग की अध्यक्षता में रविवार को वैसाखी पर्व मनाए जाने को लेकर बैठक आयोजित हुई। महासभा की बैठक में निर्णय लिया गया कि पंजाबी महासभा द्वारा प्रतिवर्ष मनाए जाने वाला वैसाखी महाउत्सव कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष भी नहीं मनाया जायेगा। अध्यक्ष नरेश चुग ने समाज को यह संदेश दिया है कि 13 अप्रैल को वैसाखी के शुभ अवसर पर हम सभी पंजाबी बिरादरी देश व समाज की खुशहाली की कामना करते हुए अपने-अपने घरों में रहकर वैसाखी पर्व मनाएंगे। इस दिन घर में पूजन कर भगवान को खीर को प्रसाद अर्पित कर एक-दूसरे को वैसाखी की लख-लख बधाई देते हुए खीर का प्रसाद ग्रहण करें।
कोरोना एडवाइजरी की पालना के साथ शुरू हुई सभा की बैठक में महासचिव सुभाष भोला ने बताया कि पंजाबी महासभा एवं बीकानेर पंजाबी सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में 13 अप्रैल को रेलवे ग्राउण्ड में वैसाखी उत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं साझा चुल्हे में बना महालंगर प्रसाद का आयोजिन करना तय था, परन्तु राज्य सरकार के कोविड-19 निर्देशों की पालना के कारण इसे जनहित में रद्द करना पड़ा है। उन्होंने बताया कि प्रतिवर्ष की तरह विवाह योग्य युवक-युवतियों के रजिस्ट्रेशन के आवेदन आॅन लाइन निःशुल्क स्वीकार किए जायेंगे। इस संबंध में अध्यक्ष नरेश चुग एवं नरेश खत्री से मोबाईल पर सम्पर्क किया जा सकता है।
इस अवसर पर सभा के संरक्षक गौतम लाल खिवांणी ने वैसाखी महाउत्सव आयोजन की दशकों से निर्वहन की जा रही परम्परा पर प्रकाश डाला। सभा के अध्यक्ष नरेश चुग ने कोरोना से बने हालात पर चर्चा करते हुए समाज को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया तथा महासभा द्वारा वैक्सीनेशन शिविर लगवाने का भी आश्वासन दिया। बैठक में महासभा एवं सेवा संस्थान के हरभगवान अनेजा, हुकमचंद किंगर, मनोहरलाल छाबड़ा, राजेश मुजाल, विपिन पोपली, गिरिश खत्री, ऐडवोकेट रविकान्त वर्मा, ऐडवोकेट हरीश मदान, केशव रहेजा, सतीश भुटरेजा, सुरेश खियाणी, दीपक अरोडा, विक्की चढ़ा, किशन चावला, अंकुर नागपाल आदि सदस्यों ने भी विचार व्यक्त किए ।
Load More Related Articles
Load More By alertbharat
Load More In बीकानेर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *