लगातार 10 वें दिन पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी

Petrol-diesel prices rising continuously during recession
Spread the love

जयपुर। कोरोना वायरस ने एक ओर जहां आम आमदमी की आमदनी को प्रभावित किया है, वहीं दूसरी ओर पेट्रोल-डीजल की कीमतों उसकी कमर तोड़ कर रख दी है। दस दिनों में पेट्रोल-डीजल के दाम करीब 6 रुपए तक बढ़ गए है। पेट्रोल-डीजल के दाम 10वें दिन चढ़कर अपने उच्चतम स्तर पर चल रहे है। सात जून से भावों में तेजी का जो दौर शुरू हुआ वह थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। मंगलवार को लगातार दसवें दिन पेट्रोल के दाम 50 पैसे चढ़कर 83.64 रुपए और डीजल के भाव 56 पैसे की तेजी के साथ 76.07 रुपए प्रति लीटर के अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए। पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी पिछले दस दिनों से लगातार ही हो रही है, इससे पहले कीमतें स्थिर बनी हुई थी। सोमवार को जयपुर में पेट्रोल की कीमतों में 51 पैसे और डीजल की कीमतों में 58 पैसे प्रति लीटर की तेजी आई थी। दस दिनों में पेट्रोल के दाम 5.85 रुपए और डीजल के दाम 5.74 रुपए बढ़ गए है। सरकारी तेल कंपनियों ने ईंधन की कीमतों में किए जाने वाले रोजाना बदलाव को दोबारा शुरू कर दिया। आखिर क्यों महंगा हो रहा पेट्रोल-डीजल विशेषज्ञों का कहना है कि मार्च में सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक्साइड ड्यूटी में 3 रुपए प्रति लीटर का इजाफा कर दिया था, लेकिन तेल कंपनियों ने इसे ग्राहकों पर पास ऑन नहीं किया यानी कीमतों में टैक्स नहीं बढ़ाया। इसीलिए अब वो पेट्रोल पर रोजाना दाम बढ़ा रही है। इसके अलावा लॉकडाउन में ढील के बाद अचानक से पेट्रोल और डीजल की मांग बढ़ी है। रुपए में गिरावट से भी तेल कंपनियों की चिंता बढ़ी है। लॉकडाउन के बीच तेल कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ा था, अब वे इसकी भरपाई करना चाहेंगी। तेल मंत्रालय के पेट्रोलियम प्लानिंग एंड एनालिसिस सेल के आंकड़ों के मुताबिक, मई में तेल की कुल खपत 1.465 करोड़ टन रही, जो अप्रेल के मुकाबले 47.4 फीसदी ज्यादा है। हालांकि लेकिन पिछले साल की समान अवधि की तुलना में यह मांग 23.3 फीसदी कम है। 7 जून से लगातार बढ़ रही कीमत कोरोना संक्रमण सामने आने और लॉकडाउन के कारण सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने 16 मार्च से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रोजाना आधार पर होने वाले बदलाव को बंद कर दिया था। 7 जून को कंपनियों ने पहली बार देश में एक साथ पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की थी। यह बढ़ोतरी करीब 80 दिन बाद की गई थी।

Load More Related Articles
Load More By alertbharat
Load More In बीकानेर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *